फर्जी इनवॉयस वालो के पीछे लगा डीजीजीआई

Share this Post

लखनऊ : फर्जी कंपनियों के नाम पर जीएसटी चोरी करने वाली कई कंपनियां डायरेक्ट्रेट जनरल ऑफ जीएसटी इंटेलिजेंस (डीजीजीआई) के रेडार पर हैं। डीजीजीआई प्रदेशभर में चल रही ऐसी कंपनियों पर बड़ी कार्रवाई करने की तैयारी कर रहा है।

विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, प्रदेशभर में कई ऐसी बोगस कंपनियां हैं, जो फर्जी इनवॉयस बनाकर जीएसटी चोरी कर रही हैं।

अधिकारी के मुताबिक, कंपनियां देश के अलग-अलग हिस्सों में माल की सप्लाई दिखाती हैं। ऐसे में पूरे नेटवर्क को ट्रेस कर पाना आसान नहीं होता है। इसी का फायदा उठाकर जीएसटी चोरी का पूरा खेल चलता है।

जिन रजिस्टर्ड कंपनियों के नाम पर इनवॉयस जारी होते हैं, वैसी कंपनियां सिर्फ कागजों में ही होती हैं। प्रदेश में चल रही ऐसी कंपनियों की संख्या सैंकड़ों में है।

ऐसे होता है जीएसटी चोरी

जीएसटी चोरी का यह पूरा खेल बोगस कंपनियों के द्वारा संचालित किया जाता है। इसमें टैक्स चोरी करने वाला व्यक्ति बोगस कंपनी के नाम पर पहले तो इनवॉयस जारी करता है।

कागजों पर ही ऐसे माल की सप्लाई भी हो जाती है, जो कभी बनता ही नहीं। इसके बाद बोगस कंपनी के नाम से आरटीजीएस के जरिए पेमेंट भी हो जाता है। इसके बाद उस रकम को खाते से निकाल लिया जाता है।

इसके आधार पर कंपनियां इनपुट टैक्स क्रेडिट ले लेती हैं। इसी तरह से कंपनियां टैक्स चोरी करती हैं।

पकड़ी थी “20 करोड़ की टैक्स चोरी” –

डीजीजीआई ने शुक्रवार को कानपुर, अलीगढ़ और फिरोजाबाद में छापेमारी कर 110 करोड़ रुपये के बोगस बिल पकड़े थे। इनके जरिए 20 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी की जा रही थी। जीएसटी इंटेलिजेंस की टीमों ने 11 ठिकानों पर छापेमारी की थी।

डीजीजीआई के बारे में और अधिक जानने के लिए यहां क्लिक करें

डीजीजीआई वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करें

ALSO READ :

gst effect cars
List Of New Traffic Penalties In India

Share this Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

r