असिस्टेंट कमिश्नर पर लोकायुक्त का छापा, 100 करोड़ की संपत्ति का खुलासा

Share this Post

इंदौर : लोकायुक्त पुलिस की टीम ने मंगलवार अल सुबह सहायक आयुक्त (मध्यप्रदेश आबकारी / मध्यप्रदेश स्टेट एक्साइज) आलोक कुमार खरे के इंदौर में ठिकानों सहित 2 जगह रायसेन, छतरपुर निवास पर कार्रवाई की।

छतरपुर में आलोक खरे के पिता लालजी खरे रहते हैं। भोपाल लोकायुक्त के निर्देश पर सागर लोकायुक्त की टीम छतरपुर में कार्रवाई कर रही है।

लोकायुक्त डीएसपी नवीन अवस्थी का कहना है कि ये प्रदेश की सबसे बड़ी कार्रवाई निकल सकती है जिसमे 100 करोड़ से अधिक की संपत्ति का पता चला है। वहीं इंदौर में कार्रवाई करने के लिए इंदौर लोकायुक्त टीम की मदद ली गई है।

जानकारी के मुताबिक इंदौर के ग्रेंड एक्सओटिका सहित एक अन्य स्थान पर जब टीम पहुंची तो उन्हें ताला मिला। बताया जा रहा है कि खरे के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति होने की शिकायत मिली थी, जिस पर लोकायुक्त पुलिस ने यह एक्शन लिया।

यह बात भी सामने आ रही है कि खरे की पत्नी रायसेन में फलों की खेती कर रही हैं और वे पत्नी के नाम से ही इनकम टैक्स रिटर्न फाइल कर रहे थे।

इंदौर के सहायक आबकारी आयुक्त नरेश चौबे के ट्रांसफर के बाद भोपाल से सहायक आबकारी आयुक्त आलोक खरे को इंदौर सहायक आबकारी आयुक्त की जिम्मेदारी दी गई थी।

इंदौर में उनका एक बंगला और एक फ्लैट है। लोकायुक्त की टीम जहां पहुंची थी दोनों ही जगह ताले लगे मिले, अब टीम 11 बजे आबकारी विभाग के ऑफिस पहुंचेगी। अलग-अलग जगहों पर लोकायुक्त पुलिस जांच कर रही है।

इसके बाद ही साफ हो पाएगा कि खरे के ठिकानों से उन्हें क्या मिला। जहां-जहां भी टीम पहुंची है वहां खरे के बड़े-बड़े बंगले बने हुए हैं।

CLICK HERE FOR MP STATE EXCISE WEBSITE

ALSO READ : Details about Officers of New GST Committee (Hin-Eng)

 


Share this Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

r