Reverse Charge Taxpayers GST Refunds GST INDIA, gstwayout, gst logo

यूपी राज्य जीएसटी : जीएसटीआर-9 के तहत देना होगा साल भर का हिसाब

Share this Post

लखनऊ : देश के हर राज्य में जीएसटी लागू होने के बाद से अब तक रिटर्न के तौर पर हर महीने दाखिल जीएसटीआर-1 और जीएसटीआर-3 बी के अलावा कारोबारियों को अब वार्षिक रिटर्न के तौर पर जीएसटीआर-9 भी दाखिल करना होगा। इस रिटर्न में उन्हें साल भर की खरीद, बिक्री और अदा किए गए टैक्स का पूरा विवरण देना होगा।

यूपी राज्य जीएसटी के एडीशनल कमिश्नर विवेक कुमार ने बताया कि जीएसटीआर-9 सिस्टम पर आ गया है। व्यापारी इसे 31 दिसंबर तक कभी भी भर सकते है।

चार तरह के है वार्षिक जीएसटी रिटर्न :

जीएसटीआर-9 ए – यह वार्षिक रिटर्न कंपोजीशन स्कीम में पंजीकृत व्यापारियों को भरना होगा।

जीएसटीआर-9बी – भारत में काम करने वाली उन ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए जो वित्तीय वर्ष के लिए जीएसटीआर-8 दाखिल कर चुकी है।

जीएसटीआर-9सी – सालाना दो करोड़ टर्नओवर वाले डीलरों को यह रिटर्न भरने के साथ ऑडिटेड बहीखाते व टैक्स विवरण भी जमा करना होगा।

जीएसटीआर-9 – अन्य सभी पंजीकृत व्यापारियों को यह रिटर्न दाखिल करना होगा।

इन्हें मिलेगी छूट

जीएसटीआर-9 के रिटर्न से यदा-कदा टैक्स के दायरे में आने वाली संस्थाओं के साथ अप्रवासी करदाताओं, इनपुट सर्विस डिस्ट्रीब्यूटर्स और टीडीएस भुगतान करने वालों को छूट रहेगी।

200 रुपये प्रतिदिन का लगेगा जुर्माना

वैसे तो जीएसटीआर-9 दाखिल करने के लिए इस कैलेंडर वर्ष के अंत तक का समय है, लेकिन अंतिम तारीख तक भी रिटर्न दाखिल न होने पर प्रतिदिन 200 रुपये जुर्माने के साथ 18 फीसद की दर से टैक्स पर ब्याज भी अदा करना होगा। जुर्माने की रकम वार्षिक टर्नओवर के एक चौथाई प्रतिशत से अधिक नहीं होगी।

स्रोत: जागरण

ALSO READ : CBIC promotes 594 Customs Officers to IRS Cadre

ALSO READ : 

DGGI Logo, DGGSTI Logo, GST Intelligence, CBIC GSTI
GST Intelligence Arrests Two In Rs 40 Crore ‘Scam’

Share this Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GSTWayout