सीएनजी गाड़ियों पर जीएसटी 18% लगे – मारुति

Share this Post

सीएनजी गाड़ियों पर जीएसटी 18% लगे – मारुति उद्योग लिनिटेड 

नई दिल्ली : घरेलू बाजार में 51 फीसदी हिस्सेदारी रखने वाली मारुति सुजुकी को उम्मीद है कि इस साल बजट में सरकार जीएसटी के रेट कम करने का ऐलान करेगी। कंपनी चाहती है कि सीएनजी कारों पर जीएसटी की दर मौजूदा 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी कर दिया जाए।

एक मीडिया हाउस को दिए एक एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में मारुति सुजुकी के चेयरमैन आर सी भार्गव ने कहा कि सीएनजी कारों पर जीएसटी कम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इससे इंपोर्ट बिल और प्रदूषण कम होगा।

इलेक्ट्रिक व्हीकल को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार ने इन पर सिर्फ 12 फीसदी जीएसटी लगाया है। इसके मुकाबले सीएनजी (कंप्रेस्ड नेचुरल गैस) सहित ऑटोमोबाइल पर 28 फीसदी जीएसटी लगता है। हाइब्रिड गाड़ियों पर फिलहाल 43 फीसदी टैक्स लगता है जिसमें 28 फीसदी जीएसटी शामिल है।

भार्गव ने कहा, सीएनजी टेक्नोलॉजी सही ढंग से काम करती है। ग्राहक भी सीएनजी-गाड़ियां खरीदकर खुश हैं। सीएनजी कारों से क्रूड ऑयल का इंपोर्ट घटेगा। साथ ही यह क्रूड के मुकाबले सस्ता है। इसके सप्लाई से सोर्स कई हैं और इसकी कमी नहीं हो सकती है। साथ ही यह पर्यावरण के लिए भी अच्छा है।

भार्गव ने यह भी कहा कि कंप्रेस्ड नेचुरल गैस कारों से फॉरेन एक्सचेंज आउटफ्लो कम करने में मदद मिलती है। उन्होंने कहा कि सीएनजी कारों की बिक्री को बढ़ावा देने के लिए जीएसटी को 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी करना चाहिए।

उन्होंने पेट्रोलियम मिनिस्टर धर्मेंद्र प्रधान के बायोफ्यूल, बायो कंप्रेस्ड नेचुरल गैस, एथेनॉल, मिथेनॉल जैसे क्लीन फ्यूल को बढ़ावा देने की कोशिशों की तारीफ की। पिछले साल सितंबर में धर्मेंद्र प्रधान ने कहा था कि अगले 10 साल में भारत के बास 10,000 कंप्रेस्ड नेचुरल गैस के स्टेशन होंगे। फिलहाल देश में सिर्फ 1762 सीएनजी स्टेशन हैं और कंप्रेस्ड नेचुरल गैस गाड़ियों की संख्या 33,64,256 है।

ALSO READ :


Share this Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

r