डीजीजीआई ने किया कांग्रेसी नेता को गिरफ्तार

Share this Post

राउरकेला : फर्जी कंपनी बनाकर करोड़ों का जीएसटी फर्जीवाड़ा करने के मामले में वस्तु एवं सेवा कर ख़ुफ़िया निदेशालय (डीजीजीआई) की राउरकेला क्षेत्रीय इकाई के हाथों सिविल टाउनशिप निवासी नारायण खेतान गिरफ्तार होकर जेल जाने के बाद राउरकेला जिला कांग्रेस कमेटी (डीसीसी) की पूर्व कमेटी से जुड़े कतिपय नेताओं की जान सांसत में है। इसमें खासकर वैसे नेता भयभीत हैं, जो नारायण खेतान के नजदीकी होने के साथ उनसे मदद भी लेते रहे हैं। ऐसे नेताओं का डर है कि जीएसटी फर्जीवाड़ा के मामले में गिरफ्तार व्यक्तियों की सूची में अगला नाम कहीं उनका न हो। इस मामले में गिरफ्तार नारायण खेतान डीसीसी के कोषाध्यक्ष रह चुके हैं।

उल्लेखनीय है कि गत शुक्रवार की शाम डीजीजीआई की टीम ने करोड़ों रुपयों की जीएसटी फर्जीवाड़ा के मामले में सिविल टाउनशिप निवासी नारायण खेतान तथा संजीव कुमार को गिरफ्तार करने के बाद जेल भेजा है। जांच में पता चला है कि दोनों आरोपित फर्जी कंपनी बनाकर करोड़ो रुपयों की जीएसटी का फर्जीवाड़ा करते थे। इन दोनों गिरफ्तार आरोपितों में से नारायण खेतान कांग्रेस से जुड़े थे।

करोड़ों रुपयों की जीएसटी फर्जीवाड़ा में गिरफ्तार नारायण खेतान पूर्व जिलाध्यक्ष बीरेन सेनापति की कमेटी में कोषाध्यक्ष थे। वैसे मैंने जिलाध्यक्ष का पदभार संभालने के बाद नई कमेटी को अनुमोदन के लिए हाईकमान के पास भेज गया है। लेकिन इस कमेटी में किसी भी पद के लिए नारायण खेतान का नाम नहीं है। जबकि जिला कोषाध्यक्ष के रूप में वारियम का नाम है।

ALSO READ :

gst e way bill
E-way bill: 11 goods off Rs 1 lakh exemption list

Share this Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

r