जीएसटी रिटर्न: नवंबर के लिए 49.5 लाख ने किया दाखिल, बढ़ रही है संख्या

Share this Post

नई दिल्ली : जीएसटीएन के पोर्टल में तकनीकी खामियों को दूर करने के लिए सरकार की कोशिशें धीरे-धीरे रंग ला रही हैं। इसका संकेत इस तथ्य से मिलता है कि समय पर जीएसटी रिटर्न दाखिल करने वाले कारोबारियों की संख्या लगातार बढ़ रही है। नवंबर के लिए करीब लाख कारोबारियों ने जीएसटीआर-3बी दाखिल किया है। जीएसटी में पंजीकृत कारोबारियों को हर माह इस रिटर्न फॉर्म को भरना होता है। नवंबर महीने के लिए यह रिटर्न भरने की अंतिम तारीख दिसंबर थी।

सूत्रों के मुताबिक नवंबर में 80.69 लाख कारोबारियों को जीएसटीआर-3बी दाखिल करना था। इसमें से करीब 61 प्रतिशत ने यह फार्म भरा है। अक्टूबर के लिए जीएसटीआर-3बी जमा करने की अंतिम तारीख नवंबर थी। तब तक 43.67 लाख असेसी ने ही जीएसटी का रिटर्न फाइल किया था। खास बात यह है कि अक्टूबर के लिए 78 लाख असेसी को यह रिटर्न दाखिल करना था। इस तरह नवंबर के लिए रिटर्न दाखिल करने वाले कारोबारियों की संख्या बढ़ी है।

जीएसटी का क्रियान्वयन धीरे-धीरे सुचारु हो रहा है। हर माह अंतिम समय सीमा के भीतर रिटर्न दाखिल करने वाले असेसीज की संख्या बढ़ती जा रही है। सूत्रों ने कहा कि ताजा आंकड़ों से यह ट्रेंड भी सामने आया है कि अंतिम तिथि के दिन रिटर्न भरने वालों की संख्या अब धीरे-धीरे कम हो रही है जो इस बात का संकेत है कि कारोबारी समय रहते थे ही अपना रिटर्न भरना शुरू कर देते हैं। रिटर्न फाइलिंग की स्थिति में सुधार जीएसटी काउंसिल द्वारा बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी की अध्यक्षता में एक मंत्रिसमूह के गठन के बाद आया है।

ALSO READ : ‘GST’ : Work is still in progress

राज्यों के वित्त मंत्रियों के इस मंत्रिसमूह ने जीएसटीएन व जीएसटी का तकनीकी कामकाज देख रही आइटी फर्म इन्फोसिस के आला अफसरों के साथ बैठक कर पोर्टल की तकनीकी खामियों के निवारण में अहम भूमिका निभाई है। इसी का परिणाम है कि जीएसटी रिटर्न की स्थिति बेहतर हुई है। इस समूह के गठन से पहले जीएसटी रिटर्न फाइल करने की रफ्तार बहुत धीमी थी। मसलन, सितंबर के लिए जीएसटीआर-3बी जमा करने की अंतिम तिथि अक्टूबर थी। तब तक करीब 39.33 असेसी ने रिटर्न दाखिल किया था।

राज्यवार देखें तो नवंबर में भी रिटर्न दाखिल करने में पंजाब सबसे आगे रहा। नवंबर के लिए पंजाब में करीब 76 प्रतिशत असेसी ने रिटर्न दाखिल किया। पंजाब के बाद चंडीगढ़, हरियाणा और उत्तर प्रदेश का नंबर है। हरियाणा में 67 तथा उत्तर प्रदेश में 66.55 प्रतिशत असेसी ने रिटर्न फाइल किए। हालांकि बड़े राज्यों में उत्तर प्रदेश आगे बना हुआ है। जीएसटी रिटर्न दाखिल करने के मामले में उप्र का प्रदर्शन गुजरात और महाराष्ट्र जैसे धनाढ्य राज्यों से भी बेहतर है। 20 दिसंबर तक करीब 61 फीसद कारोबारियों ने जीएसटीआर-3बी रिटर्न भरा है। बड़े राज्यों की श्रेणी में उत्तर प्रदेश रिटर्न फाइल करने में सबसे आगे है।

क्या है जीएसटीआर-3बी
जीएसटी में पंजीकृत व्यापारियों को कारोबार वाले महीने के लिए उसके अगले माह तारीख तक जीएसटीआर-3बी दाखिल करना होता है। फिलहाल यह अंतरिम व्यवस्था है। इसमें कारोबारी को अपनी खरीद-बिक्री का ब्योरा देते हुए कर अदायगी करनी होती है।

स्रोत: जागरण


Share this Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *